✽ रोजाना नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ ✽

loading...

रंडी माँ की गन्दी ब्लू फिल्म की शूटिंग

0
loading...

प्रेषक : रोमी …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रोमी है और मेरी माँ का अंजलि है। मेरे अनगिनत बाप है जिनका कोई पता नहीं है। मेरे एक छोटी बहन और नाना-नानी है। मेरी माँ को एक पति का और मुझे एक बीवी का इंतजार है। मेरी बहन 12 साल की है, मेरी उम्र 25 साल है, हाईट 5 फुट 7 इंच, मेरे लंड का साईज़ छोटा ही है, लेकिन मोटा है और वो में आपको बाद में बताऊंगा। मेरी माँ की उम्र 38 साल है। हुए ना हैरान वो मेरी सग़ी माँ ही है, में उसी की चूत से इस हसीन दुनिया में बाहर आया हूँ।

दोस्तों मेरी परविश अनाथालय में हुई है, जहाँ में 16 साल की उम्र तक रहा हूँ और पैदा होते ही लावारिस बन गया, क्योंकि मेरी माँ ने जब मुझे पैदा किया था तो उसकी उम्र सिर्फ़ 13 साल की ही थी, में नाजायज़ औलाद था और मेरे बाप का पता तो मेरी माँ को भी नहीं रहा होगा। एक बार टाँगे फैला देने के बाद उसे तो ये भी फ़िक्र नहीं रहती थी कि उसे कौन आदमी चोद रहा है?

दोस्तों जब में 18 साल का था तो एक दिन मुझे लेने पुलिस आई, तो में डर गया, लेकिन बाद में पता चला कि वो मुझे गुमशुदगी के 2 साल पहले लिखवाई गई रिपोर्ट के चलते तलाश रही थी। अब मेरे परिवार वालों का पता चल चुका था और अब में खुश हो गया था कि अब मुझे घर मिल जाएगा। फिर में घर पहुँचा तो बहुत खुश हुआ और सबने मुझे बहुत प्यार किया और फिर में अच्छी तरह से समय काटने लगा। फिर कुछ महीने के बाद में अपने एक नये दोस्त के घर गया, तो वहाँ उसकी बहन मीना ने दरवाजा खोला। फिर मैंने रोहित के बारे में पूछा, तो उसने कहा कि वो घर पर नहीं है बल्कि वो बिल्कुल अकेली है, तो उसने मुझे अंदर बुलाया तो में उसके रूम में चला गया और बिस्तर पर बैठ गया। फिर मैंने कहा कि पानी मिलेगा, तो वो हँसने लगी और बोली कि बीयर की बोतल तो बगल में ही है यहाँ पानी से ज़्यादा शराब पी जाती है, ये इंडिया नहीं है और फिर वो मुझसे इधर उधर की बातें करने लगी।

फिर उसने कहा कि वो कहीं घूमने चलना चाहती है, तो मैंने कहा कि ठीक है और फिर उसने अपनी टी-शर्ट मेरी तरफ पीठ करके उतार दी, उसने अंदर कुछ भी नहीं पहना हुआ था, तो मेरे लंड को झटका लगा। वैसे भाई मुझे 4 महीनों से सिर्फ़ मुठ ही मारने को मिला था। अब मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा होने लगा था। अब वो सामने की अलमारी में कोई दूसरी शर्ट ढूंढ रही थी, शायद उसे टी-शर्ट नहीं मिली तो वो एकाएक मेरी तरफ घूमी। अब उसकी दोनों गोरी-गोरी चूचीयाँ मेरे सामने थी। फिर उसने मुझसे कुछ कहा, लेकिन मेरा ध्यान तो सिर्फ उसकी छाती पर ही था। तो वो ज़ोर से बोली कि क्या हुआ? और अपने हाथों से अपनी छाती को ढक लिया और कहा कि तुम्हारे पीछे पड़ी मेरी शर्ट माँग रही हूँ, सुनाई नहीं देता क्या? तो मैंने कहा कि सॉरी। फिर वो बोली कि कभी लड़की को नंगा नहीं देखा है क्या? तो मैंने कहा कि नहीं ऐसी बात नहीं है।

अब जब में चलने के लिए सीढी से उतर रहा था, तो उसकी नंगी चूचीयाँ मेरी आँखो के सामने आ गई और में जानबूझ कर फिसल गया। फिर उसने मुझे पकड़ लिया और हम वहीं पर बैठ गये। फिर उसने कहा कि ज़्यादा चोट तो नहीं लगी, तो मैंने कहा कि दर्द हो रहा है, तो उसने कहा कि चलो वापस घर में बैठते है। अब में तो मचलने लगा था और फ्लेट में घुसते ही बिस्तर पर गिर गया। उसका फ्लेट बहुत बड़ा था। फिर मैंने कहा कि में तुम्हारा फ्लेट देखना चाहता हूँ, तो उसने मेरे पैर की तरफ़ देखा और मुस्कुराई, तो मैंने कहा कि ओह मेरा तो ध्यान ही हट गया। फिर उसने मुझसे पूछा कि और क्या चल रहा है कुछ काम करना है, या पढ़ाई? तो मैंने कहा कि मुझे मम्मी पापा से पैसे माँगने में शर्म आती है, में कुछ करना चाहता हूँ। में पैसे के लिए कोई भी काम कर सकता हूँ बस क्राइम नहीं और में किसी को तकलीफ़ नहीं पहुँचा सकता हूँ। फिर उसने कहा कि ब्लू फिल्म में काम करोगे? तो मैंने कहा कि क्या? तो उसने कहा कि तुम्ही ने तो कहा कि तुम कुछ भी कर सकते हो, तो मैंने कहा कि तुम मज़ाक कर रही हो।

फिर उसने कहा कि नहीं, में उम्र में छोटी हूँ इसलिए नहीं कर सकती, लेकिन मेरी माँ करती है और जब में 18 साल की हो जाउंगी तो में भी करूँगी। फिर मैंने कहा कि तुम मज़ाक कर रही हो, तो उसने लाईट बंद की और नाईट लेम्प जलाकर सामने की दीवार का बड़ा सा पर्दा हटा दिया, तो मेरी आँखें फटी की फटी रह गई। अब सामने तो फिल्म बनाने की तैयारी चल रही थी, लेकिन मेरी हैरानी इस बात को लेकर थी की वहाँ तो मेरी माँ भी थी, उसने शर्ट और पेंट पहनी थी। फिर मीना ने कहा कि वो मेरी माँ की दोस्त अंजलि आंटी है, वो मेन हिरोइन है, वो बहुत बड़ी रंडी है। अब वो इस बात से अंजान थी कि वो मेरी माँ है। अब वहाँ पर मेरे ही मौहल्ले का बूढ़ा सेम अंकल, जिसकी उम्र 60-65 साल होगी और उसका काला लंड बिल्कुल सीधा खड़ा था। अब वहाँ 3 औरतें, 20-25 आदमी और 2 कैमरा मैन और डाइरेक्टर थे।

फिर तभी सेम ने जाकर मेरी माँ को पीछे से पकड़ा और उसकी शर्ट के अंदर अपना हाथ डालकर सहलाने लगा, तो मेरी माँ मुस्कारने लगी और वो एकाएक मेरी माँ की चूचीयाँ अंदर से ही पकड़कर मसलने लगा। फिर मेरी माँ ज़ोर से हंस पड़ी। फिर मीना ने कहा कि बस अब वो शूटिंग करने ही वाले है। फिर मैंने कहा कि उनकी आवाज़ें हम कैसे सुन सकते है? अब हमें शीशे की वजह से कुछ सुनाई ही नहीं दे रहा है, तो उसने एक स्पीकर का बटन ऑन कर दिया। फिर डाइरेक्टर ने कहा कि ओके तो शुरू करें, तो सबने हाँ में हाँ मिलाई। अब मेरी माँ बेड पर जाकर बैठ गई और अपने कपड़े के ऊपर से ही अपने बदन की चूची को मसलने लगी। फिर तभी वहाँ सेम पहुँचा और उसने अपनी पेंट उतार दी और तुरंत अपनी शर्ट भी उतार दी। अब वो बिल्कुल नंगा हो चुका था और अब बूढ़ा होने के बावजूद उसका लंड जबरदस्त था। फिर वो मेरी माँ के पास गया तो मेरी माँ ने तुरंत ही उसके लंड को चाटना शुरू कर दिया। अब सेम भी उसकी चूची को उसकी शर्ट के ऊपर से ही दबा रहा था।

फिर मेरी माँ ने अपनी शर्ट भी उतार दी तो उसकी शानदार नंगी चूचीयाँ बाहर निकल आई। अब में तो पागल होने लगा था और फिर मैंने मेरे बगल में देखा तो मीना पूरी नंगी हो चुकी थी और अपनी चूत में अपनी उंगली डालकर पेल रही थी। फिर वो मुझे देखकर मुस्कुराई और मेरे पास आई और मेरे कपड़े उतारने लगी। अब उधर सेम ने मेरी माँ को पूरा नंगा कर दिया था और उसकी चूचीयाँ चूसने लगा था। अब वो चूची चूसते-चूसते उसकी चूत में भी अपनी एक उंगली घुसेड़ रहा था। फिर तभी वहाँ सिमोन आया और उसने भी अपने कपड़े उतार दिए। अब उसका लंड देखकर तो मेरी गांड ही फट गई थी। उसका लंड करीब 10 इंच का था, तो माँ उसका लंड भी चूसने लगी। अब वो बड़ी ही मादक आवाजे निकाल रही थी और अब वो साथ-साथ कुछ बोल भी कर रही थी, फुक मी आई एम ए होर आई एम ए बिच फुक मी।

loading...

अब माँ उन दोनों के लंड एक साथ चूस रही थी। फिर तभी मीना ने मेरे लंड को अपने हाथों से पकड़ा और चूसना शुरू कर दिया और अपने एक हाथ से अपनी चूत को भी रगड़ रही थी। अब उधर सेम ने मेरी माँ को बिस्तर पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ गया। अब वो उसके मुँह मे मुँह डालकर किस कर रहा था और फिर वो उसकी छाती पर चढ़कर बैठ गया और अपना लंड उसके मुँह में दे दिया और सिमोन माँ की दोनों टांगो को फैलाकर उसकी चूत चाटने लगा, तो मेरे मुँह से निकल गया कि वाऊ क्या चूत है? तो मीना बोली कि रंडी का भोसड़ा है उसमें तो तुम पूरे खुद ही घुस जाओगे। फिर मैंने मन ही मन सोचा कि इसे क्या पता में पूरे 9 महीने उसी में तो था? फिर कुछ देर चूत चाटने के बाद सिमोन ने उसमें अपना लंड पेला तो माँ के मुँह से कराह निकल गई। फिर मैंने कहा कि दर्द हो रहा होगा ना, तो मीना बोली कि बड़े बड़े लोड़ो को पूरा खा जाती है तब तो चिल्लाती नहीं है, ये सब उसका नाटक है, ये फिल्म की शूटिंग है जानू। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर काफ़ी देर तक सिमोन अपना लंड थोड़ा सा उसकी चूत में डालकर यानि कि लगभग 5-6 इंच अंदर डालकर चोदता रहा और फिर उसने ज़ोर से अपना आधे से ज़्यादा लंड मेरी माँ के भोसड़े में घुसा दिया। फिर करीब 20 मिनट तक चोदने के बाद सेम और सिमोन दोनों उठे और सिमोन ने अपना लंड उसकी चूत में से निकालने के बाद सीधा माँ के मुँह में डालकर चूसाने लगा। फिर सेम भी पीछे से आकर माँ की चूत में अपना लंड डालकर पेलने लगा। फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला और उसकी गांड के छेद पर रखकर एक धक्का मारा तो उसका आधा लंड घुस गया और फिर से एक ज़ोर का धक्का मारा तो उसका पूरा लंड माँ की गांड में घुस गया और चुदाई करने लगा। अब वो अपना लंड बाहर निकालकर कभी चूत में डालता, तो कभी गांड में डालता। फिर काफ़ी देर तक चुदाई करने के बाद वो तीनों अलग हुए और उन्होंने पानी वग़ैरह पिया।

फिर माँ ने कॉफ़ी का कप लिया और पीने लगी, तो तभी डाइरेक्टर आया और उसकी चूची को मसलते हुए बोला कि कल का क्या प्रोग्राम है? तो माँ ने बोला कि रात का, तो उसने हँसते हुए बोला कि नहीं दिन का। खैर तुम सब थोड़ा 15-20 मिनट आराम करो, फिर शूटिंग स्टार्ट होगी। फिर माँ ने कहा कि आज कितनों से डलवा सकती हूँ? तो उसने कहा कि अगले शनिवार को इन सारे मर्दों से चुदवाना है, आज तो मैन-मैन शॉट होगा। फिर तभी मीना उठकर मेरे लंड पर निशाना लगाकर बैठी और धीरे-धीरे मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया और घुड़सवारी करने लगी। उसका बिस्तर इतना शानदार स्प्रिंग वाला था कि अपने आप ही नीचे से धक्का लग रहा था। अब वो जबरदस्त मस्ती में ज़ोर-ज़ोर से आहें भरे जा रही थी। अब में उसकी दोनों चूचीयों को अपने दोनों हाथों से मसल रहा था। फिर में उठकर उसकी दोनों चूचीयों को अपने मुँह से बारी-बारी चूसने लगा, तो वो मुझे जकड़कर मस्ती में ज़ोर-ज़ोर से कूदने लगी।

फिर मेरे लंड का वीर्य पिचकारी मारकर निकलने लगा तो मेरे लंड में बहुत दिनों का माल जमा था तो मेरे लंड से ढेर सारा लंड का पानी पाकर वो भी तृप्त होकर मेरे ऊपर ही सो गई। अब उधर मेरी माँ भी उन दोनों के साथ खूब चुम्मा चाटी कर रही थी। फिर तभी सिमोन और सेम दोनों ने मेरी माँ के मुँह में ढेर सारा थूक दिया, तो मेरी माँ वो सब पी गई और उन दोनों के लंड को चाटती रही। फिर तभी सिमोन माँ को घोड़ी बनाकर अपना लंड उसकी गांड में डालने लगा था। अब सेम का लंड माँ के मुँह में था और फिर थोड़ी देर तक पेलने के बाद सिमोन ने अपना लंड सीधा माँ की गांड से बाहर निकालकर माँ के मुँह में डालकर चुसवाने लगा। फिर सेम ने भी अपनी पोज़िशन चेंज करके माँ की चूत में अपना लंड पेल दिया और ज़ोर-ज़ोर से धक्के लगाने लगा। अब मेरी माँ की मस्त-मस्त चूचीयाँ हवा में लहरा रही थी, जिसे बीच- बीच में सेम और सिमोन दबा देते थे और जब कोई नहीं दबाता तो वो खुद ही दबाने लगती थी।

फिर उन्होंने फिर से अपनी पोज़िशन चेंज कर दी और अब सेम सोफे पर बैठ गया था, तो माँ ने उसके ऊपर बैठकर उसके लंड को अपनी गांड के छेद पर टिकाया और बैठ गई। फिर सिमोन ने आकर उसकी चूत में अपने काले किंग कोबरा नाग जैसे लंड को भोसड़े में डालकर ज़ोर-ज़ोर से धक्के पे धक्के लगाने लगा। अब मेरी माँ डबल मज़ा ले रही थी, ये दुनिया की हर औरत को नसीब नहीं होता है। फिर सिमोन उठा और माँ के मुँह में अपना लंड दे दिया। अब माँ कभी उसकी बॉल्स चाटती तो कभी लंड और सेम माँ की चूचीयाँ दबाए जा रहा था। फिर माँ ने सिमोन की काली गांड भी चाटनी शुरू कर दी। अब वो उसकी गांड के छेद में अपनी जीभ पेल रही थी। फिर काफ़ी देर तक गांड चाटने के बाद वो लोग उठे और कैमरामैन ने एक बड़ा सा टब लाकर वहाँ रख दिया, तो माँ उसमें बैठ गई। अब में तो सब समझ गया था, क्योंकि मैंने बहुत सी ब्लू फ़िल्मों में ये सब देखा था।

अब सेम माँ के ऊपर अपना लंड करके ज़ोर जोर से मूठ मारने लगा था। फिर थोड़ी देर के बाद ढेर सारा वीर्य माँ के मुँह में गिरने लगा, तो माँ वो सारा वीर्य निगल गई। फिर सेम ने अपना लंड माँ को चटाया और हट गया और अपना लंड साफ करने लगा। अब वहाँ के सारे लोग लाईन लगाने लगे थे। अब वो बारी-बारी से माँ को अपना लंड चटाते और फिर मेरी माँ के मुँह में, उसकी चूचीयों पर, चेहरे पर वीर्य निकालकर गिराते और अपना लंड चटवाकर साफ करते और फिर चले जाते। फिर से लाईन में लगने के लिए एक मर्द वैसे भी 2-3 बार अपना माल एक ही समय में गिरा सकता है। फिर करीब 40-50 बार लंड की पिचकारियाँ माँ के ऊपर मारी गई। अब माँ का पूरा शरीर पूरा भीगा हुआ था और वो हर आदमी का वीर्य नहीं पी रही थी। अब हर शॉट के बाद वीर्य उसकी चूचीयों की लाईन से होता हुआ उसकी चूत से नीचे गिरे जा रहा था। फिर तभी मुझे लगा कि अब वो पेशाब भी करेंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा करने के बजाए बाथरूम में जाकर अपना लंड साफ करके अपने अपने कपड़े पहनने शुरू कर दिए। फिर तभी सिमोन ने वहाँ आकर माँ के मुँह में अपना लंड डालकर चुसवाने लगा।

अब सिमोन जब आह-आह करने लगा, तो माँ ने अपना मुँह खोल दिया, तो सिमोन के लंड से खूब मोटी तेज धार निकलने लगी और उसके वीर्य से मेरी माँ के मुँह, चेहरे, चूची, पेट, बालों पर, वो तो पूरी नहा ली थी और अब माँ वीर्य से पूरी लथपथ हो गई थी, अब माँ काफ़ी ज़्यादा खुश थी। फिर वो खड़ी हुई और सिमोन का लंड चाटकर साफ करके शूटिंग जारी रखी। फिर सिमोन ने बड़े से जग में पूरा वीर्य इकठ्ठा किया, जो लगभग 1 लिटर से ज़्यादा का ही रहा होगा। अब मेरी माँ के पूरे शरीर पर वीर्य लगा हुआ था, अब उनकी आँखों में भी वीर्य चला गया था और बालों में भी ढेर सारा वीर्य लगा हुआ था।

loading...

फिर उसने वो जग टेबल पर रख दिया, तो एक औरत वहाँ 3 गिलास, 1 छोटा सा गैस चूल्हा और एक कटोरी भी लेकर आई। फिर बहुत सारे लोगों ने उस कटोरी में थूकना शुरू कर दिया और उसे निकालकर 1 गिलास में पूरा भर दिया। अब उधर वो औरत जल्दी-जल्दी जग से 1 गिलास वीर्य निकालकर उसका आमलेट बनाने लगी थी, क्योंकि वीर्य 10-15 मिनट में पतला होकर पानी की तरह होने लगता है। अब माँ के ऊपर लगा हुआ सारा वीर्य भी टपकने लगा था। फिर जब आमलेट बन गया तो उस औरत ने अपना कपड़ा उठाकर 1 गिलास में मूत दिया, तो सिमोन ने भी उसमें थोड़ा मूत दिया ताकि गिलास पूरा भर जाए। अब माँ के सामने टेबल पर 1 गिलास थूक, 1 गिलास मूत और आधा लीटर से ज़्यादा वीर्य और दो ब्रेड स्लाइस और वीर्य से बना आमलेट रखे थे। फिर माँ ने आमलेट के एक टुकड़े को तोड़ा और उसे अपनी चूत और चूची पर वीर्य से लपेटा और अपने मुँह में डालकर खाने लगी और फिर उसने 3-4 घूँट थूक भी पीया और पूरा गिलास पेशाब पिया। अब गिलास खाली देखकर वो औरत गिलास को अपनी चूत के पास ले जाने लगी, तो माँ ने कहा कि अभी इतना ढेर सारा ये सब है, ये कौन पिएगा? तो उसने गिलास वापस रख दिया।

फिर माँ ने आमलेट खाना शुरू कर दिया और 1 गिलास में जग से वीर्य निकालकर भर लिया और अपनी एक उंगली को अपनी गांड और अपनी चूत में घुसा-घुसाकर वीर्य को भरती रही और अपने बदन पर लगा वीर्य मलती रही और आमलेट पर लगाकर खा जाती। अब उसने 1 गिलास थूक और 1 गिलास वीर्य पीकर सब खाली कर दिया था और पूरा आमलेट खा गई थी। फिर उसने कहा कि बस अब और नहीं, तो डाइरेक्टर ने इशारा किया, तो वो बोली कि कोशिश करती हूँ और जैसा कि कोशिश अक्सर कामयाब होती है, तो वो 2 गिलास वीर्य और किसी तरह से पी गई और फिर वो इसी हालत में बैठ गई। उसके बाद उसने ना तो बाथरूम में जाकर साफ सफाई की और ना ही कुल्ला किया। अब वो इसी हालत में कैमरे के सामने 15-20 मिनट बैठी रही और उसका इंटरव्यू होता रहा। अब इधर मीना मेरे ऊपर से हटी, तो लंड का पानी मेरे ऊपर फैला हुआ था, तो उसने भी चाटकर पूरा साफ किया। फिर में वो सब देखकर वापस अपने घर चला आया ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.