✽ रोजाना नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ ✽

loading...

नये साल पर दो रंडियों की चुदाई

0
loading...

प्रेषक : राहुल …

हैल्लो दोस्तों, आप सभी सेक्स के पुजारियों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 20 साल है, में ग्रेजुयशन कर रहा हूँ, में आगरा से हूँ। एक बार न्यू ईयर पर हम चार दोस्त में, सन्नी, विक्की और अमित रात को करीब 11 बजे इन्जॉय करके आ रहे थे। अब न्यू ईयर पर इन्जॉय का मतलब तो आप सब समझ गये होंगे दारू और मुर्गा। अब मेरा दोस्त सन्नी गाड़ी चला रहा था कि तभी रास्ते में हमें हरे कपड़ो में दो लड़कियाँ जाती हुई दिखी। वो फोन पर बात कर रही थी कि तभी मेरे दोस्त अमित ने उन्हे फ्लाइयिंग किस पास कर दी। तब हमने अमित से कहा कि क्या कर रहा है यार? पिटवायेगा क्या? लेकिन तभी हमने देखा कि वो लड़कियाँ हमें देख रही थी और हमें अपने पास बुला रही थी। तभी हमने ये बात अपने दोस्त सन्नी को बताई, तो तब उसने गाड़ी बैक करके उनके आगे लगा दी।

हाँ दोस्तो में ये बताना तो भूल ही गया कि वो दोनों लड़कियाँ हरे कपड़ो में थी और बहुत ही सेक्सी लग रही थी, उनका फिगर मस्त था, एक लड़की जो 19-20 साल की होगी, जिसका नाम रागिनी था, उसका फिगर साईज 34-25-37 था और उसके कूल्हे बड़े टाईट और बड़े-बड़े थे और दूसरी जिसकी उम्र लगभग 23-24 साल की थी, उसका फिगर साईज 36-28-39 था और वो इच्तनी अच्छी नहीं लग रही थी। तो तभी हमने गाड़ी उनके पास लगाई और पूछा कि हाँ जी क्या हुआ? तो तब उन्होंने पूछा कि क्या आप हमें आगे तक छोड़ सकते है? तो तब हमें लगा कि उन्होंने हमें किस पास करते हुए नहीं देखा था इसलिए हमसे लिफ्ट माँग रही है। फिर हमने उन्हें अंदर बैठा लिया और गाड़ी चालू कर दी। तभी मेरे दोस्त विक्की ने पूछा कि आप अकेली इतनी रात में यहाँ क्या कर रही है? तो तब उन्होंने कुछ नहीं कहा और बोली कि हम किसी काम से स्टेशन जा रहे है। तब हमने पूछा कि कितनी बजे की ट्रेन है? तो तब उन्होंने बताया कि रात 3 बजे की है।

loading...

तब हमने कहा कि आपको इतनी रात में हम दारू पिए हुए लड़कों से लिफ्ट माँगने में डर नहीं लगा? तो तब उन्होंने कहा कि इसमें डर की क्या बात है? आप हमें खा थोड़ी ना जाओगे। अब हम लोग आपस में खुल गये थे। फिर थोड़ी देर तक बात करने बाद में थोड़ा हिलने डुलने लगा। तब उन्होंने कहा कि आपको बैठने में दिक्कत हो तो रागिनी आपकी गोद में बैठ जाएगी तो आप आराम से फैलकर बैठ पाएँगे। तो तब मैंने कहा कि ठीक है। दोस्तों क्या बताऊँ? रागिनी जब मेरी गोद में बैठी तो मेरे शरीर में सनसनी सी फैल गयी और मेरा लंड तनने लगा था। अब इतनी देर में दो सुंदरियों को अपने पास बैठा देखकर हमारा नशा काफूर हो गया था। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

loading...

फिर हमने सोचा कि बात आगे कैसे बढ़ाई जाए? फिर मैंने आगे की तरफ होकर अपने दोस्त सन्नी से कहा कि किसी सुनसान इलाके में गाड़ी ले चल, आज तो इनको खाना ही है। तब वो बोली कि क्या हुआ? क्या बात कर रहे थे? तो तब मैंने कहा कि बस यही कि आपकी गाड़ी तो रात की 3 बजे की है, तो आप स्टेशन पर क्या करेंगी? और वैसे भी आज हम घर जाएँगे नहीं तो आगरा का चक्कर ही लगा लिया जाए। तब उन्होंने कहाँ कि ठीक है। अब हम भी समझ गये थे कि ये भी चुदना चाहती है। तो तभी में रागिनी की गांड में अपना लंड दबाने लगा। फिर थोड़ी देर के बाद हम सुनसान इलाक़े में आ गये, तो तब में ज़बरदस्ती रागिनी के होंठ पकड़कर चूमने लगा। तो तभी उसने मुझे रोककर कहा कि इतनी ज़ोर से क्यों कर रहे हों? आराम से कर लो। अब हम समझ गये थे कि ये चुदक्कड लड़कियां है।  तभी में रागिनी को किस करने लगा और फिर मेरे दोस्त अमित ने पीछे से उसकी कमीज की चैन खोल दी और उसकी ब्रा भी खोल दी थी और उसके बूब्स दबाने लगा था।

अब इधर से मेरा दोस्त विक्की जो मेरी बगल में बैठा था, वो अब रानी के पास आ गया था और उसे किस करके उसका पल्लू हटा दिया था। फिर मैंने रागिनी को पीछे करके उसकी सलवार खोली और नीचे कर दी। अब उसकी पेंटी बिल्कुल गीली हो चुकी थी। फिर मैंने उसकी पेंटी उतारकर अपनी जीन्स की चैन खोलकर अपना लंड बाहर निकालकर उसके हाथों में दे दिया। तब वो मेरा लंड देखकर बोली कि इतना बड़ा लंड मैंने आज तक नहीं देखा, मेरा लंड 7 इंच का था। अब वो मेरा लंड सहलाने लगी थी, तो  तभी मैंने उससे चूसने के लिए कहा। फिर मैंने अपने दोस्त विक्की को रानी से पीछे किया और रानी को अपने लंड की तरफ झुका दिया। अब वो मेरा लंड चूसने लगी थी। तभी में रागिनी के बूब्स चूसने लगा। फिर थोड़ी देर तक चूसने के बाद मैंने रानी को अलग किया और रागिनी की चूत में अपना लंड डालने लगा। तभी वो चिल्लाने लगी, उसकी चूत बहुत टाईट थी। फिर मैंने अपना लंड घुसेड़ने के बाद उसे 25 मिनट तक चोदा। अब इतनी देर में वो तीन बार झड़ चुकी थी। फिर मेरा लंड झड़ने के बाद मेरे बाकी दोस्तों ने भी खूब मज़े लिए और फिर उन्हें स्टेशन छोड़ दिया। फिर हमने उनसे मोबाईल नम्बर भी माँगा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया था। उन्होंने कहा कि अब हम कभी एक दूसरे को कहीं देखेंगे भी तो प्लीज कोई सवाल जवाब नहीं करेंगे ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.