✽ रोजाना नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ ✽

loading...

मामा ने जमकर चोदा

0
loading...

प्रेषक : रोनक …

हैल्लो दोस्तों, में चोदन डॉट कॉम का नियमित पाठक हूँ। में गुजरात का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 25 साल है। अब में आपका समय ज्यादा ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। यह घटना 2 साल पहले हुई थी। यह कहानी मेरे मामा-मामी के सेक्स की है, जो मैंने अपनी आँखो से देखी थी। मेरे मामा-मामी अहमदाबाद में रहते है। मेरे मामा हमेशा काम के सिलसिले से शहर के बाहर रहते है। में मेरे मामा के घर गया हुआ था और उस दिन सुबह ही मेरे मामा भी लौटे थे। अब हम लोग दोपहर को खाना खाकर बैठे थे। अब में सोफे पर बैठकर किताब पढ़ रहा था और टी.वी चालू थी, तो तभी मेरी मामी पानी पीने के लिए वहाँ से गई। तो उसके थोड़ी देर के बाद मेरे मामा भी वहाँ से चले गये। तो तब मैंने सोचा कि पानी पीने गये होंगे, तो तब मैंने मुड़कर धीरे से उन्हें देखा। तो तब मामा ने अपना एक हाथ मामी की गांड पर घुमाया और वो वापस आ गये। तो मैंने झट से अपना मुँह फैर लिया, उनको पता ही नहीं चला था कि मैंने उनको देखा है।

फिर थोड़ी देर तक सोफे पर बैठकर टी.वी देखने के बाद मामा अपने कमरे में चले गये और बोले कि अब में थोड़ा आराम करता हूँ। अब में और मेरी मामी वहीं बैठकर बातें कर रहे थे। फिर 5 मिनट के बाद मामी भी वहाँ से अपने कमरे में चली गई। तो मैंने सोचा कि आज जरुर कुछ देखने को मिलेगा, तो यह सोचकर में उनके कमरे के पास गया और चाबी के छेद में से उन्हें देखने लगा था। अब मामी ड्रेसिंग टेबल के सामने बैठकर अपने बाल ठीक कर रही थी और मामा उनके पीछे खड़े होकर मामी के बूब्स को सहला रहे थे, मेरी मामी के बूब्स लगभग 35-36 साईज के होंगे।

मामा : मैंने बहुत दिनों से तुम्हारे साथ सेक्स नहीं किया है।

मामी : हाँ, वो तो में समझ ही गई थी जब तुमने मेरी गांड पर अपना हाथ फैरा था।

अब मामी बैठी थी और मामा उनकी साड़ी के ऊपर से उनके बूब्स दबा रहे थे। फिर मामा ने कहा कि तुम्हारे बूब्स तो अभी भी मस्त कड़क है, इन्हें दबाने में बहुत मज़ा आता है। अब मामी खड़ी हो गई थी और मामा के लिप्स पर अपने लिप्स रखकर किस करने लगी थी। अब मामा के हाथ मामी की गांड और कमर पर घूम रहे थे, मामी के कूल्हों का साईज लगभग 38 होगा। फिर मामी ने कहा कि चलो अब मुझे बेड पर ले चलो। फिर मामा ने उन्हें गोद में उठाकर बेड पर लेटा दिया। अब वो मामी के ऊपर थे और उन्हें लिप्स पर किस कर रहे थे और उनके बूब्स दबा रहे थे। अब मामी के हाथ मामा के कूल्हों पर थे। फिर मामा ने मामी को खड़ा किया और उनकी साड़ी और पेटीकोट को निकाल दिया।

अब मामा ने उनका ब्लाउज भी निकाल दिया था। अब मामी ने भी मामा की शर्ट पेंट निकाल दी थी। अब मामा सिर्फ़ चड्डी में थे और उनका लंड खड़ा दिखाई दे रहा था। मामा ने भूरे कलर की क्रॉस चड्डी पहनी हुई थी। अब मामी भी ब्रा और पेंटी में थी, मामी की स्किन थोड़ी ब्राउन है, लेकिन उनका बदन बहुत चिकना है, उनके बड़े बूब्स सफ़ेद ब्रा में क़ैद थे और उन्होंने पीले कलर की पेंटी पहनी थी, उनका चिकना बदन बहुत ही सेक्सी लग रहा था। अब मेरा लंड भी खड़ा हो गया था। अब में बाहर खड़े-खड़े हस्तमैथुन कर रहा था। अब मामा मामी के पूरे बदन पर किस कर रहे थे और अपने एक हाथ से मामी के बूब्स, तो दूसरे हाथ से मामी की गांड को दबा रहे थे। अब मामी भी उनके लंड को अपने हाथ में लेकर खेल रही थी। अब मामी के मुँह से धीरे-धीरे कामुक आवाजे निकल रही थी। फिर मामा ने उनकी ब्रा निकाल दी तो मामी के बूब्स एकदम से उछलकर बाहर आ गये, उनके बूब्स बहुत ही बड़े-बड़े थे, उनकी निप्पल का रंग डार्क ब्राउन था। अब उनके निप्पल एकदम कड़क हो गये थे। अब मामा उनके एक निप्पल को अपनी जीभ से चाटने लगे थे और एक बूब्स को अपने हाथ से दबाने लगे थे।

loading...

अब मेरी मामी के हाथ मामा की अंडरवेयर के ऊपर से ही खेल रहे थे। अब उधर मामा बारी-बारी से उनके निप्पल को बदल-बदलकर चूस रहे थे। अब मामा भी अपना एक हाथ मामी की पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को सहलाने लगे थे, मामी की पेंटी थोड़ी गीली लग रही थी। फिर थोड़ी देर तक मामी की चूत सहलाने के बाद मामी ने कहा कि मुझे तुम्हारा लंड चूसना है। फिर मामा ने अपना अंडरवेयर निकाल दिया, उनका लंड लगभग 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा था। अब मामी ने उनके लाल टोपे पर अपनी जीभ फेरनी शुरू कर दी थी। अब मामा के हाथ मामी के बालों में घूम रहे थे। अब मामा का लंड बहुत कड़क हो गया था। अब मामी मामा का पूरा लंड अपने मुँह में लेकर आगे पीछे कर रही थी और अब मामा भी उनके सिर को पकड़कर अपनी कमर को हिला रहे थे। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब यह सब देखकर मेरा लंड भी अब कड़क हो गया था। फिर मामा ने मामी को बेड पर लेटा दिया और उनकी पेंटी को निकाल दिया, मामी की चूत पर काले बाल थे। फिर मामा ने मामी कि चूत को सहलाया और मामी की चूत को चाटने लगे थे। फिर तब मामी ने कहा कि में कब से तड़प रही थी। आज इसे शांत कर दो। तो मामा अपनी जीभ मामी की चूत में अंदर बाहर करने लगे। अब मामी भी अपने हाथों से मामा के सिर को अपनी चूत पर दबा रही थी और अब उनके मुँह से सिसकी निकल रही थी। अब मामा ने अपनी एक उंगली चूत में डाल दी थी और ज़ोर से अंदर बाहर करने लगे थे और फिर थोड़ी देर के बाद अपनी दूसरी उंगली भी चूत में डाल दी थी। अब मामी की चूत बहुत ही गीली हो गई थी। फिर मामा ने अपनी एक उंगली चूत में से बाहर निकाली और मामी की गांड में डाल दी तो मामी जोर से चीख पड़ी। फिर मामा धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगे। अब मामी बहुत ही उत्तेजित हो गई थी। फिर मामी ने कहा कि अब जल्दी से मुझे चोद दो, अब देर मत करो, प्लीज।

loading...

फिर मामा ने उसे डॉगी स्टाइल में होने को कहा तो मामी वैसे ही हो गई। अब मामी की गांड बहुत बड़ी दिख रही थी। अब तक मैंने उसकी गांड को कपड़ो में ही देखा था, लेकिन बिना कपड़ो के तो उनकी गांड बहुत ही बड़ी दिख रही थी। फिर मामा ने मामी के दोनों कूल्हों पर दो ज़ोर से थप्पड़ मारे तो मामी के मुँह से आवाज निकल गई। अब मामी के कूल्हें लाल हो गये थे। फिर मामा ने अपना लंड मामी की गांड के छेद पर रगड़ने लगे। फिर मामी डरकर घूम गई और बोली कि अभी चूत की ही चुदाई करो, रात को गांड मारना, अभी बहुत दर्द होगा तो में सह नहीं सकूँगी। फिर मामा उसे सीधा लेटाकर उनके दोनों पैरो के बीच में बैठ गये। फिर मामा ने अपना लंड मामी की चूत पर रगड़ने के बाद एक जोर का धक्का दिया तो मामा का लंड थोड़ा अंदर घुस गया। अब मामा मामी के ऊपर लेट गये थे और किस करने लगे थे। अब उनके हाथ मामी के बूब्स पर थे और धीरे-धीरे धक्के लगा रहे थे।

अब थोड़ी देर के बाद मामा ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, अब मामी भी उनका जवाब दे रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मामा ने ऐसे ही चोदा और फिर बाद में मामा ने कहा कि अब थोड़ी देर तुम ऊपर आ जाओ। तो मामी उनके लंड को अपनी चूत के ऊपर बैठकर ऊपर नीचे होने लगी। अब मुझे मामी के बूब्स और उनकी गांड बहुत बड़ी दिख रही थी। फिर थोड़ी देर तक ऐसे ही करने के बाद मामा ने उन्हें एकदम से पकड़कर नीचे कर दिया और वो उनके ऊपर हो गये और ज़ोर-ज़ोर से धक्के लगाने लगे। अब में ठप-ठप की आवाज सुन रहा था। अब में समझ गया था कि अब उनका पानी निकलने वाला है। फिर मामा ने ज़ोर-जोर से 5-6 झटके मारे, तो में समझ गया कि वो झड़ गये है। अब उन्होंने अपना पानी मामी की चूत में ही डाल दिया था। फिर वो दोनों थोड़ी देर तक ऐसे ही शांत एक दूसरे से चिपककर सोए रहे। फिर थोड़ी देर के बाद मामी ने कहा कि आज बहुत मज़ा आया। तो मामा ने कहा कि रात को क्या करना है वो तो पता है ना? तो तब मामी ने ज़ोर से मजाक में मामा के कूल्हों पर एक थप्पड़ मारा। अब मेरा पानी भी उनको देखकर निकल गया था तो में भी बाथरूम में जाकर पानी से साफ करके सो गया ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.