रोजाना नई सेक्स कहानियाँ

लंड को गर्लफ्रेंड के मुँह में डाला

0

प्रेषक : राज …

हैल्लो दोस्तों, में एक सीधा और स्मार्ट लड़का हूँ। मेरी हाईट 6 फुट है और मेरा कलर फेयर है। मेरी गर्लफ्रेंड का नाम अल्का है और मैंने उसे कई बार किस किया था, लेकिन एक बार उसने मुझे अपने घर पर बुलाया तो उसके घर पर कोई नहीं था, तो में यह देखकर बहुत खुश हुआ। फिर मैंने उसे ध्यान से देखा, तो वो घर में हल्की टी-शर्ट और लोवर पहनी हुई थी और उसकी हल्की टी-शर्ट में उसके बूब्स बहुत मस्त लग रहे थे। फिर उसने मुझे पानी पिलाया और फिर हम बिस्तर पर बैठ गये तो मैंने उसकी गोदी पर अपना सिर रख लिया और उससे बातें करने लगा और धीरे से अपना एक हाथ उसकी पीठ पर रखकर सहलाने लगा तो उसने कुछ नहीं कहा और में पीछे से अपना एक हाथ लाकर सामने उसके पेट पर रगड़ने लगा और उसकी टी-शर्ट ऊपर करके उसकी नाभि पर अपने गर्म-गर्म होंठ रख दिए और फिर उसकी टी-शर्ट ऊपर करके उसे लेटा दिया। अब तक वो शांत लेटी हुई थी।

फिर में उसकी टी-शर्ट को ऊपर करके उसकी ब्रा में कसे बूब्स को मलने लगा और फिर पीछे अपना एक हाथ ले जाकर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसके नंगे बूब्स को देखकर उसे एक बच्चे की तरह चूसने लगा। अब तक वो भी गर्म हो चुकी थी तो उसने मेरा सिर उठाकर अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए। तो मैंने उसके मुँह के अंदर अपनी जीभ डाल दी और फिर हमने एक दूसरे के होंठ खूब काटे।  फिर मैंने उसका एक हाथ अपने लंड पर रख दिया, तो उसने मेरी पैंट की चैन खोलकर अपना एक हाथ अंदर डाल दिया। बस फिर क्या था? मैंने तुरंत ही उसकी पैंट और पैंटी एक साथ उतारकर फेंक दी। अब वो पूरी नंगी थी, अब उसने अपनी आँखे बंद कर ली थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने तुरंत अपने पूरे कपड़े उतारे और उसके ऊपर चढ़ गया और फिर उसे चूमने लगा और उसकी दोनों टांगो को फैलाकर अपनी जीभ रख दी। अब उसके मुँह से आह आहा आहा और करो और अंदर डालो की आवाजे आने लगी थी। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और ज़ोर से एक झटका दिया, तो वो ज़ोर से चीखी, तो मैंने तुरंत अपना लंड बाहर निकाल दिया। तो उसने मुझसे कहा कि प्लीज लंड मत डालो दर्द ज़्यादा हो रहा है। फिर मैंने उसके मुँह को खोला और उसमें अपना मुँह डाल दिया और अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाता रहा। अब वो भी मेरे लंड को लॉलीपोप की तरह चूस रही थी, तो मैंने उसके मुँह में ही मेरा पूरा माल गिरा दिया और उसके ऊपर से हट गया, लेकिन अब मेरा मन तो उसकी चूत में डालने का था तो मैंने फिर से अपना मुँह उसके मुँह में डाला और अपने होंठ उसके मुँह में रखकर अपना लंड पूरी ताक़त से उसकी चूत में घुसा दिया, तो वो जोर से चीखी, लेकिन इस बार मैंने और एक झटका दिया, तो उसकी चूत से खून निकल गया।

लेकिन मैंने एक और ज़ोर का झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया और फिर में थोड़ी देर तक उसके बूब्स को दबाता रहा और धीरे-धीरे ऊपर नीचे करना चालू कर दिया। अब उसे भी बहुत मज़ा आ रहा था तो उसने अपनी गांड उछाल कर कहा कि और चोद मुझे, फाड़ डाल मेरी चूत, फाड़ डाल। फिर मैंने और ज़ोर-जोर से झटके दिए और थोड़ी देर के बाद झड़ गया ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.