✽ रोजाना नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ ✽

loading...

भाभी की चूत में उंगली कर दी

0
loading...

प्रेषक : नदीम …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम नदीम है, मेरी उम्र 18 साल है, में दिल्ली का रहने वाला हूँ। में एक अमीर फेमिली से हूँ। मेरे घर में में और मेरी बहन अपने पेरेंट्स के साथ रहते है। अभी जून की छुट्टियों में हम लोग गाँव गये हुए थे। अब जहाँ पर हम लोग गये हुए थे वहाँ मोबाईल कम यूज़ होता है। फिर एक दिन में अपने रूम में बैठा था तो तब अचानक से किसी ने दरवाजे पर बेल बजाई। तब में उठा और जब दरवाजे को ओपन किया तो में देखता ही रह गया कि एक लेडी मेरे सामने खड़ी है और इतनी सेक्सी लग रही थी कि में उसमें खो गया था। फिर उसने मुझे देखा और मेरा नाम पूछा और कहा कि आपको यहाँ पहले कभी नहीं देखा है। फिर मैंने उनको अपने बारे में बताया। तो वो मेरे गाल पर हाथ रखकर अंदर चली गयी और में भी पागलों की तरह उनके पीछे-पीछे चला गया था। अब तो में उनको देखने के लिए उतावला रहता था।

फिर एक दिन उन्होंने मुझे अपने रूम में बुलाया और बोली कि अपने भाई का नम्बर लगाओ, अभी तक घर नहीं आए है। तो तब मैंने फोन किया तो पता चला कि वो शहर गये हुए है और अगले दिन ही वापस आएँगे। तो वो थोड़ी नर्वस हो गयी और में खुश हो गया और फिर में चला आया। फिर रात के टाईम मेरी मम्मी ने कहा कि जाओ आज अपनी भाभी के रूम में सो जाओ, आज उनके पति बाहर गये हुए है। तो तब मैंने कहा कि ठीक है, में जाता हूँ। फिर में भाभी के रूम में गया और बेड पर एक साईड में लेट गया। उस टाईम भाभी रूम में नहीं थी। अब में सोने का नाटक कर ही रहा था कि भाभी आ गयी, तो तब मैंने झट से अपनी आँखें बंद कर ली।

loading...

फिर उन्होंने मुझे देखा और फिर गेट बंद कर लिया और फिर शीशे के सामने खड़ी होकर अपने कपड़े चेंज करने लगी थी। फिर उन्होंने जैसे ही अपने सारे कपड़े उतारे, वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी। अब मेरा लंड बिल्कुल कुतुबमीनार की तरह खड़ा हो गया था, लेकिन में क्या कर सकता था? तो में लेटा रहा। फिर उन्होंने नाइटी पहनी और बेड पर आ गयी और मुझे देखा और फिर सोने के लिए लेट गयी। अब उन्होंने पर्फ्यूम लगा रखा था, जिसकी खुशबू से में पागल हुआ जा रहा था, लेकिन मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया। फिर जब रात के करीब 1 बज गये, तो तब मैंने भाभी को जगाया और बोला कि मुझे नींद नहीं आ रही है और डर लग रहा है। तो तब उन्होंने लाईट ऑफ की और अपने से बिल्कुल सटा लिया। अब मेरा एक हाथ उनकी कमर पर था और उनका हाथ मेरे सिर पर था। अब में सिर्फ़ अंडरवेयर और बनियान में था। तब में भाभी से बोला कि आपकी नाइटी से मुझे प्रोब्लम हो रही है।

loading...

तब उन्होंने कहा कि ठीक है और अपनी नाइटी उतार दी और मुझसे बोली कि तुमने कभी किसी लेडी को नंगा देखा है। तब मैंने कहा कि रियल में तो नहीं देखा है। तब वो बोली कि देखना चाहोगे? तो तब मैंने कहा कि बिल्कुल। तो तब उन्होंने लाईट ऑन की और अपनी ब्रा और पेंटी उतार दी। तो तब मैंने कहा कि क्या में आपको टच कर सकता हूँ? तो तब उन्होंने मुझे किस कर दिया। फिर में उनके बूब्स पर हाथ रखकर उनके बूब्स दबाने लगा तो उन्होंने सिसकते हुए मुझे अपनी बाहों में भर लिया। फिर उन्होंने मुझे बेड पर लेटाकर मेरी अंडरवियर को उतारा और फिर मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी, तो में सिसक पड़ा। फिर उन्होंने 15 मिनट तक मेरे लंड को चूसा और फिर अपने बेड की साईड में से कंडोम का पैकेट निकाल लिया। फिर जब मैंने उनसे पूछा कि इससे क्या होगा? तो तब वो बोली कि कुछ नहीं तुम्हारे लंड को चिकना करना है और फिर उन्होंने मेरे पूरे शरीर पर किस किया और फिर मुझसे बोली कि तुम्हें कुछ नहीं करना। तो तब मैंने उनकी चूत में अपनी एक उंगली कर दी। वो आआआआआहह कहकर सिसक पड़ी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उनके ऊपर चढ़ाई कर दी और अपना लंड उनकी चूत में धकेल दिया। वो सिसक पड़ी और अब वो मुझे किस करते हुए उछल रही थी और बोली कि और चोद मुझे, मेरी चूत फाड़ दे। अब में और जोश में आ गया था। फिर थोड़ी देर के बाद में झड़ गया, लेकिन वो अभी तक नही झड़ी थी। फिर उन्होंने मेरे लंड को दोबारा चूसना स्टार्ट कर दिया। फिर जब मेरा लंड फिर से खड़ा हुआ तो तब मैंने उनकी गांड मारी और बहुत बार मारी। अब भाभी तो मेरी दीवानी हो गयी थी। फिर हम दोनों ने रातभर यही काम किया। फिर अगले दिन भैया आ गये और अब में उन्हें सिर्फ़ कभी-कभी किस ही कर पाता था। अब में दिल्ली में हूँ और बिल्कुल अकेला हो गया हूँ ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.